Antimatter एंटीमेटर

Antimatter एंटीमेटर

ज्यादातर इस ब्रह्माण्ड में सबकुछ पदार्थ यानी की मेटर से बना हैं. आप, मैं, पृथ्वी, वायु, तारे, इंटरस्टेलर धुल – सभी पदार्थ. हम जानते हैं की यह सभी पदार्थ इलेक्ट्रॉनों और क्वार्कों से बने हैं. कुछ पदार्थ म्युओन, tauons, और न्यूट्रिनो जैसे दुर्लभ कणों से बने होते हैं. यह सब कण उनके बुनियादी स्तर पर होते हैं.
 
yin and yang
यिन और यांग

लेकिन यहाँ पर भी एक कहावत हैं, “हर पार्टिकल के लिए, उसके जैसा लेकिन उससे पूरी तरह से विपरीत एक एंटी-पार्टिकल होता है. इन एंटी-पार्टिकलों में एक सामान्य पार्टिकल जैसी सभी खूबियाँ होती है. लेकिन यह खूबियाँ उनसे पूरी तरह से विपरीत चार्ज वाली होती है. जब ये पार्टिकल्स और उनके एंटी-पार्टिकल्स एकदूसरे के संपर्क में आते हैं तब एकदूसरे को नष्ट कर देते हैं. यु समज लीजिए की यह दोनों पार्टिकल्स एकदूसरे की मिरर इमेज हैं. आपके पूरे शरीर का भी एक पूरी तरह से विरोधी एंटीमेटर का शरीर कहीं पर मौजूद हो सकता हैं. उस शरीर के लिए आपकी यह बॉडी एक एंटीमेटर होंगी.

READ  समय यात्रा Time Travel
समीकरण x^2 = 4 के दो परिणाम हैं : 2 और -2, एक ही मूल्य है, लेकिन विपरीत लक्षण के साथ.
जब ये दोनों एकदूसरे से मिलते हैं तो, एकदूसरे का पूरी तरह से सफाया कर देते हैं. जब एकदूसरे से विपरीत गुणों वाली दो चीज़े टकराती हैं तो उनकी वैल्यू शून्य हो जाती हैं, मतलब खात्मा.हर मौलिक कण का एक एंटी-पार्टिकल होता है : एंटी-क्वार्क, एंटी-न्यूट्रिनो, एंटी-म्युओन और एंटी-इलेक्ट्रॉन. जिन्हें पॉज़िट्रान्स भी कहा जाता है.

यह एंटी-पार्टिकल्स खुद से विरोधी गुणवाले पदार्थ के अलावा अन्य पदार्थ के लिए अनिवार्य रूप से समान है. वो एंटी-पार्टिकल होने के बावजूद अन्य पार्टिकल को नष्ट नहीं कर सकता हैं. वह केवल उसके समान लेकिन विरोधी गुणवाले पार्टिकल को ही नष्ट कर सकता हैं. वह अन्य कणों के साथ अनिवार्य रूप से समान तरीके में गठबंधन कर सकता हैं.

बिग बैंग के बाद एंटीमेटर के द्वारा ब्रह्मांड में मौजूद सारे मेटर का खात्मा हो जाना चाहिए.

सिद्धांत के अनुसार, बिग बैंग के वक़्त बिलकुल बराबर मात्रा में मेटर और एंटीमेटर बना होना चाहिए. जब मेटर और एंटीमेटर मिलते हैं, वे एकदूसरे का सफाया करते है, इसके बाद कुछ भी नहीं बचेगा, केवल एनर्जी के. तो इस सिद्धांत के अनुसार, हम में से कोई भी मौजूद होना चाहिए.

READ  पृथ्वी की सबसे खतरनाक जगह कहाँ पर है? Most Dangerous Places in The World

लेकिन हम जिन्दा है. क्योंकि  भौतिक विज्ञानिको के अनुसार अंत में हर अरबों मेटर-एंटीमेटर के जोड़ो में से एक अतिरिक्त मेटर का पार्टिकल उस खात्मे के दौरान बचने में कामयाब रहा था. भौतिकशाश्त्री इस विषमता को समजने के लिए अभी भी काफी कोशिश कर रहे हैं.

उनके मुताबिक शायद बचे हुए मेटर और एंटीमेटर बिग बैंग के वक़्त से लेकर अब तक एकदूसरे के संपर्क में आए ही न हो. शायद वह एंटीमेटर अब तक कहीं छुपकर बैठा हो. लेकिन हमारे लिए तो यह एक अच्छी बात ही हैं, क्योंकि अगर वे दोनों मिल गए तो हमारे ब्रह्माण्ड का विनाश हो जाएगा.

लेकिन.लेकिन.लेकिन…..एक मिनिट रुकिए.
सिद्धांत के अनुसार, बिग बैंग के वक़्त सबकुछ नष्ट हो जाने के के बाद सिर्फ उर्जा बचनी चाहिए. तो क्या ब्रह्माण्ड में मौजूद सभी चीजों के लिए वह बची उर्जा काफी नहीं हैं. वैसे भी कहाँ जाता हैं की ब्रह्माण्ड में मौजूद सबकुछ केवल उर्जा हैं. तो फिर हम सभी और यह ब्रह्माण्ड उस random उर्जा का नतीजा क्यों नहीं हो सकते?

READ  पदार्थ क्या हैं? What is Matter?
(Visited 96 times, 1 visits today)

2 Comments

  1. krishna

    good post

    Reply
  2. MEHUL

    I M VERY SATISFIED WID UR ALL BLOGS…BUT I WANT TO MORE KNOW ABOUT UNIVERSE AND I HVE MANY QUESTION SO I HOPE U ADDED NEW BLOGS SO I HAVE GET MAY ANSWER WID YOUR BLOGS…TNK U

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares