क्या भूत सच में होते हैं? Are Ghosts Real?

Are Ghosts Real?

अगर आप भी भूत (Ghosts) में विश्वास करते हैं तो आप अकेले नहीं हैं। दुनियाभर की तमाम संस्कृतियों के लोग भूतप्रेत जैसी चीजों में विश्वास रखते हैं। पर  क्या भूत सच में होते हैं? Are Ghosts Real? दुनिया भर में भूतों के विषय पर सेकड़ो सिध्धांत मौजूद हैं। दुनिया में से कई जगहों पर भूत की तस्वीरे (ghost pictures) या भूत के विडियो (ghost videos) लिए गए हैं। लोगो को कई तरह के भूत दीखते हैं या भूतिया किसम के अनुभव होते हैं। विज्ञान  (Science) भी आज तक भूतों के बारे में ठीक से जवाब नहीं दे पाया हैं। तो भूत आखिर होते क्या हैं? चलिए जानते हैं.

ट्रेडिशनल द्रष्टिकोण से देखे तो भूत मरे हुए इन्सान का आत्मा हैं जो किसी कारण से उसके वर्तमान में फ़स गया हैं और वहाँ बाहर नहीं निकल पा रहा। भूतों में विश्वास करनेवालों का मानना हैं की यह आत्मा नहीं जानती की उसका शरीर मर चूका हैं। मतलब भूत एक इन्सान हैं जो मर चूका हैं। हम सब अपने शरीर के अन्दर की आत्माएं हैं। हमारी मौत के बाद हमारा आत्मा दूसरे आयाम में जाता हैं। किसी तह की चोट आने पर होने वाली मौत के दौरान आत्मा हमारी भौतिक दुनिया में फ़स जाता हैं जिसे उसके अगले आयाम में जाने की जरूरत होती हैं। इस प्रकार के भूत एक किसम के कैदखाने में रहते हैं जिसमे शामिल हैं उनके मौत की जगह या फिर वह जगह जहाँ उसकी जिंदगी में उसे चैन मिलता था। इन जगहों पर वह भटकते रहते हैं।

इस प्रकार के भूत हमारी भौतिक जिंदगी में भी दखल दे सकते हैं। इन भूतों को उनकी जिंदगी की घटानाए याद होती हैं और ऐसी ही कोई घटना उसके इलाके के आसपास होती हैं तो वह उसकी तरफ आकर्षित होते हैं। कुछ लोगों का मानना हैं की वे आत्माओं के साथ Communicate कर सकते हैं। ऐसी लोग आत्माओं को यह जानने में मदद करते हैं की वे मर चुके हैं और उन्हें उनके अस्तित्व में आगे के आयाम में जाना हैं।

READ  क्या ब्रह्माण्ड में कुछ भी वास्तविक हैं?

दुनियाभर के लोगो के अनुभवो मुताबिक 2 प्रकार के भूत होते हैं :

दूत

इस तरह के भूत बहुत ही आम हैं। ज्यादातर ऐसे भूत उन के परिवारजनों या करीबियों को मर जाने के बाद दीखते हैं। उनको उनकी मौत के बारे में पता होता हैं और वे बातचीत कर सकते हैं। ऐसे भूत अपने प्रियजनों के लिए सन्देश लाते हैं की वे जहाँ कही भी हैं आराम से हैं और खुश हैं,उनको उसकी मौत पर शोक नहीं करना चाहिए। यह ज्यादातर केवल एक ही बार दिखाई देते हैं अपने इरादे से ऐसा करते हैं

परेशान करनेवाले भूत

इस तरह के भूतों से लोग सबसे ज्यादा डरते हैं क्योंकि ऐसे भूत हमारे भोतिक जीवन पर सबसे ज्यादा असर डालते हैं। इन भूतों को अस्पष्टिकृत और डरावने आवाज,दीवाल की पिटाई,पैरों की आवाज जैसी अनेक चीजों का कारण माना जाता हैं। वह हमारी चीज़े रख लेते हैं और छुपा देते हैं केवल उन्हें वापस देने के लिए। वे घर के नल चालू कर देते हैं,दरवाजो को जोर से टक्कर माँरते हैं या खोल के बंद करते हैं,घर की लाइट्स को चालू – बंद करते हैं और यहाँ तक की Toilets को फ्लश करते हैं। चीजों को घर में इधर उधर फैंक देते हैं। लोगो के कपड़े खींचने के किस्से सबसे ज्यादा प्रचलित हैं।

कुछ भूत ऐसे होते हैं जो उनके मनुष्य शरीर के अनुरूप शरीर को ढूंढकर उसके प्रवेश कर लेते हैं और उसके शरीर पर कब्ज़ा कर लेते हैं। लोगो का मानना हैं की ऐसे भूत उसके जीवन काल के दौरान अधूरी रही इच्छाओं को दूसरे शरीर में घुस कर पूरी करता हैं। इनमें से प्रचलित किस्से हैं उसके विरोधियों को परेशान करना और डराना । कई बार जिस के शरीर में  घुसा हो उसको भी उसको भी नुकसान पहुंचाता हैं।

READ  ठंड जैसी कोई चीज़ नहीं होती There is no Such Thing as Cold

GhostHunters के हिसाब से भूतों के बारे मे कुछ अनकहे तथ्य

  • आत्मा जो भटक रही हैं और हमे डराना चाहती हैं वह हमारा ध्यान चाहती हैं।
  • भूतों और आत्माओं को समय की कुछ भी समज नहीं होती।
  • आत्माएं हमेशां यह नहीं समज पाती की उसका शरीर मर चूका हैं। उनके लिए यह एक डरावना सपना हैं जिसमे वे फ़स चुके हैं।
  • आत्माएं कई तरीको से हमारे साथ संपर्क कर सकती हैं। सपने,विचार,लिखावट,etc।
  • आत्माएं कभी कभी शरारती और हमेशा उत्सुक होती हैं।
  • आत्माएं रात में अधिक सक्रीय होती हैं।
  • आत्माएं कई बार प्रकट होती हैं। हवा में लहराती हुई सफ़ेद छाया के रूप में,काले साये के रूप में,ठंडी हवा के रूप में आत्मा की उपस्थिति स्पष्ट की जा सकती हैं।
  • भूतिया गतिविधियाँ बच्चों और वयस्कों के आसपास ज्यादा होती हैं। आपकी ज्यादा व्यक्तिगत उर्जा भूतों को ज्यादा आकर्षित करती हैं।
  • आत्माओं के अन्दर उनका व्यक्तित्व बरक़रार रहता हैं।
  • बच्चों और प्राणियों को भूत सबसे ज्यादा दिखते हैं।
  • आत्मा अक्सर सहायक हो सकता है।
  • भूत confusion में पड जाते हैं की वे वे यहाँ पर क्यों हैं? उन्हें क्या हुआ हैं? इन्सान उन्हें सुन क्यों नहीं पा रहे हैं?
  • भूत आपका दिमाग पढ़ सकते हैं। 
  • भूत एक भौतिक शरीर नहीं है; वे शुद्ध ऊर्जा हैं।

भूतों के लिए संभावित वैज्ञानिक स्पष्टीकरण

भूत और Electrical Fields

भूतिया जगहों पर शोधकर्ताओं ने सामान्य जगहों की तुलना से ज्यादा और असामान्य उतार-चढ़ाव वाला मजबूत चुम्बकीय क्षेत्र होने का दावा किया हैं। जो पृथ्वी के चुम्बकीय क्षेत्र से समन्धित बात हो सकती हैं। इन्सान के आसपास चुम्बकीय क्षेत्र ज्यादा होने से उसको उसके आसपास किसी चीज या इन्सान के होने का आभास होता हैं। यह चुम्बकीय क्षेत्र इन्सान के दिमाग पर भी असर डालता हैं।

READ  20 Amazing Black Hole Facts In Hindi

तापमान

ठन्डे स्थानों पर बनी हुई इमारतों पर भूतों का दिखना या अनुभव होना एक आम बात हैं। ज्यादातर लोग अचानक आये हुए ठंडी हवा के जोंके को भी भूत मान बैठते हैं और गभरा जाते हैं। ज्यादा तापमान में कम हवा का जोका अच्छी तरह से महसूस होता हैं। एक बार ऐसा हो जाए और सभी परिस्थिति अनुकूल हो तो बाकि का काम तो हमारा दिमाग ही कर देता हैं।

कम आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगे

कुछ प्रयोगों में साबित हुआ की ऐसी भूतिया जगहों पर कम आवृत्ति वाली तरंगो का साम्राज्य होता हैं जिसे infrasound भी कहते हैं। infrasound भूतिया अनुभूतियो का कारण हो सकती हैं। इससे घभराहट और बेचेनी की भावना के साथ रूम या जगह पर किसी की मौजूदगी का अनुभव होता हैं। ऐसी तरंगो को इन्सान आसानी से नहीं सून सकते लेकिन जानवर सून लेते हैं।

मेरी नजर में अगर लोग यह मानते हैं की उन्होने कोई भूत देखा हैं तो वह केवल उनके दिमाग में हैं। लोग भूत को देखते हैं क्योंकि वे भूत को देखना चाहते हैं। ज्यादातर तो लोगो का भ्रम ही भूत को जन्म देता हैं।लेकिन भूत का विषय आज भी एक रहस्य हैं।

(Visited 1,591 times, 1 visits today)

16 Comments

  1. Rakesh kumar

    It is intresting topic

    Reply
  2. Rakesh kumar

    What is ghost

    Reply
    1. SHAILENDRA SINGH

      WHAT IS GOD FRIENDS

      Reply
  3. shraddha shuklas

    अगर आत्मा एक शरीर से दुुसरे शरीर में जाती हैै तो जनसंख्या नहीं बढनी चाहिए बल्कि घटना चाहिए क्योकिं कुछ तो भूत बन जाते हैं??????????

    Reply
    1. Anil kumar

      Wo janwar ya spices jo mar chuke h aur jo vilupt ho chuke h unki jagh ko bhi to pura kiya jayega aur insan sbse safe prajati mani jati h

      Reply
    2. Rajat

      I think is bare me sabko kal sochna chahiye, sone ke based.. .😂😂

      Reply
    3. Rajat vinode

      I think, k is bare hme kal sochna chahie sone k baad.. .😂😂

      Reply
  4. Naresh Mali

    Bhoot kyo hote hai

    Reply
  5. VinceLMcgurr

    This post is priceless. When can I find out more?

    Reply
  6. LesaESwisher

    Thanks for another excellent article. Where else may just
    anybody get that kind of info in such an ideal means of writing?

    I’ve a presentation subsequent week, and I’m at the search for such information.

    Reply
  7. Nitish maurya..Barabanki

    Har inshan ko bhut kyo nhi dikhe deta h
    kuch logo ko hi kyo inki mavjudgi ka ahsas hota h or vo hi dekh pate h…..?????

    Reply
  8. Nitish maurya..Barabanki

    Har inshan ko bhut kyo nhi dikhae deta h
    kuch logo ko hi kyo enki mavjudgi ka ahsas hota h or vo hi dekh pate h…..?????

    Reply
  9. rasik kumar

    Bhut bdhiya sir me apse judna chahta hu

    Reply
  10. rakesh insan

    koi bhut bhat nhi hota es pirthvi par bhuto ki ek alag steg hoti hai vo hai ruhani mandlo par

    Reply
  11. Pravin sawant

    bhut nahi hote h

    Reply
  12. md sonu li

    my qustion is kya is duniya mein bhoot hai kya

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares