Golden Ratio In Hindi सुवर्ण अनुपात

GOLDEN RATIO

प्रसिद्ध Fibonacci Sequence ने सदियों से गणितज्ञों, कलाकार, डिजाइनर, और वैज्ञानिकों को मोहित किया है. इसे Golden Ratio के नाम से भी जाना जाता हैं. प्रकृति में अपनी सर्वव्यापकता और अदभुत कार्यक्षमता जैसे मुलभूत गुणों से इसके महत्व का पता चलता है.

Fibonacci Sequence बढ़ते जाते नंबरों का एक सेट हैं. यह कुछ इस तरह से शुरू होता हैं : 0, 1, 1, 2, 3, 5, 8, 13, 21, 34, 55,… हमेशां के लिए चलता ही रहता हैं. प्रत्येक नंबर जो पहले आता है दो नंबरों का योग है. यह एक सामान्य पैटर्न हैं,लेकिन यह ब्रह्मांड के लिए एक तरह का प्रणाली नंबर में निर्मित पैटर्न प्रतीत होता हैं. तीन से विभाजित पांच 1.666 है. पांच से विभाजित आठ 1.6 है. आठ से विभाजित तेरह 1.625 है. तेरह से विभाजित इक्कीस 1.615 है. यह श्रृंखला चलती ही रहती हैं. यानि की 1.6 Golden Ratio नंबर हैं.
यूनानियोंने इसे Golden Rectangle के निर्माण के लिए 1.618 अनुपात का इस्तेमाल किया। यह सबसे गणितीय सुंदर संरचना माना जाता है, और अक्सर वास्तुकला में इस्तेमाल किया जाता हैं. पिरामिडो का निर्माण भी इसके आधार पर ही किया गया था. Golden ratio के मुताबिक चहेरे वाले लोग सुन्दर होते हैं.इन्सान के DNA में भी Golden Ratio पाया गया हैं.
Golden ratio प्रकृति और विज्ञान के सभी रूपों में प्रकट होता है. यह हररोज हमारे आसपास के जीवन में दिखाई देता हैं. आइये देखते हैं :
 
  • इंसानी चहेरे में
  • आकाशगंगाएं
  • चक्रवात
  • shells में
  • पेड़ों की शाखाओं में
  • बीज के अन्दर
  • फूलों की पंखुड़ियों में

इन सब के अलावा और भी चीजों में यह पाया जाता हैं. तो क्या हम इसे भगवान का अस्तित्व होने का इशारा मान सकते हैं?  क्योंकि यह छोटी से छोटी चीज़ को लेकर बड़ी से बड़ी चीज़ में उपस्थित हैं. अगर यह एक संयोग हैं तो वह भी बहुत निराला कहा जाएगा. Golden Ratio हम ब्रह्मांडीय आंकड़ा (UNIVERSAL NUMBER) भी कह सकते है. यह पूरे ब्रह्माण्ड में बसा हैं. ज्यादातर चीज़े इसके मुताबिक ही बनी हैं. आप ने इस बारे में एक बार तो जरूर सोचा होंगा.

READ  20 Amazing Black Hole Facts In Hindi
(Visited 290 times, 1 visits today)

3 Comments

  1. vishal rangankar

    how to use golden ratio

    Reply
  2. sanjeev

    nice

    Reply
    1. umang prajapati

      थैंक यू

      Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares