कैसे करे खुद को मोटीवेट? 20 Ways to Motivate Yourself In Hindi

How To Motivate Yourself – 20 Ways to Motivate Yourself

ऐसा जरुरी नहीं हैं की सभी लोग हर वक़्त प्रेरित ही रहे. कई बार तो मैं भी आलसी और un-motivated महसूस करता हूँ. तो क्या आप इस समस्या का समाधान चाहते हैं? hindi quotes,thoughts या फिर motivational quotes आपके लिए शायद फायदेमंद हो सकते हैं. यह रहे उन में से 20 समाधान. Self Improvement और Motivation के इन तरीकों को कोशिश कर के देखीएगा और मुझे बताइयेगा की इनमें से कौनसा आपके लिए अधिक कारगर रहा. तो चलिए देखते हैं 20 Ways to Motivate Yourself in hindi – खुद को प्रेरित रखने के 20 तरीकें.

1).खुद के साथ समजौता करना सीखिए:

यह तरीका आपके लिए विलंब पर काबू पाने के लिए और खुद से काम करवाने के लिए अच्छा है. आप खुद से छोटा या बड़ा समजौता कर सकते हैं, जैसे की आप खुद से यह कहें की मैं यह काम पूरा कर के गार्डन में टहलने जाऊँगा और वहां जाकर आइसक्रीम खाऊंगा. इस तरीकें का सबसे बड़ा मकसद यह हैं की अपने आप से वादा कीजिए और उसे निभाना सीखिए. तभी तो आप दूसरे से वादा कर कर के उसे निभा पाएंगे.

2).अगर आप खुद को motivate महसूस न कर रहे हो तो motivate होने की एक्टिंग कीजिए:

अजीब बात यह हैं की ऐसा करने से आप वास्तव में खुद को motivate होता महसूस करने लगेंगे. और आप जानते ही होंगे मैं अपनी आगे की कई पोस्ट्स में कह चूका हूँ की “सब कुछ दिमाग में हैं”.

3).सुबह उठाते ही खुद से सवाल करना शुरू कीजिए:

खुद से सुबह में उठते वक़्त खुद यह सवाल पूछना शरू कीजिए;
1.मैं अपनी जिंदगी के लिए इस वक़्त क्या कर रहा हूँ?
2.जो भी कर रहा हूँ उससे मुझे क्या प्राप्त हो रहा हैं?
3.क्या में अपने मौजूदा जीवन से खुश हूँ?
4.में अपने जीवन में क्या करने के लिए उत्साहित हूँ?
आपके जीवन में यह बहुत ही महत्वपूर्ण हैं की आप जैसा चाहे वैसा ही महसूस करे. क्योंकि जीवन आपका हैं. सुबह के यह सवाल बहुत ही अच्छे हैं, क्योंकि वे दिन की शुरुआत से ही आपको पॉजिटिव मूड में लाकर पॉजिटिव रास्ता दिखाते हैं. वे रास्ता दिखाते हैं की आपको किस दिशा में जाना हैं.

4).हमेशां बड़े गोल बनाइयें:

बड़े गोल छोटे गोल के मुकाबले ज्यादा motivate करते हैं. कुछ बड़ा सोचेंगे तो छोटा काम करने में आसानी होंगी और आपका आत्मविश्वास बढेंगा. बड़े गोल की असर भी बड़ी होती हैं. जो आपके जीवन में बहुत ही ज्यादा motivation लाने में मदद करता हैं.

READ  Big Bang Theory In Hindi बिग बैंग किस वजह से हुआ?

5).कुछ छोटा कीजिए, पर शुरू कीजिए:

यह सबसे जरुरी चीज़ हैं. एक दो घंटे उस चीज़ के बारे में सोचने के बजाय उसको करना शुरू कर दीजिए. यह चीज़ सीखिए. उसे करने से क्या परिणाम होगा उसके बारे में सोचना समय की बर्बादी हैं. आप जानते हैं की आपको वह काम करना ही हैं तो फिर सोचना क्या? ज्यादा से ज्यादा आप उस काम में फ़ैल होंगे, तब आप निराश तो नहीं होंगे, क्योंकी आप सोचेंगे की कम से कम वह काम किया तो सही. इससे आप को दूसरी बार कोई काम करने में आत्मविश्वास मिलेंगा. और तीन या चार बार ऐसा करने से यह आपकी आदत ही बन जाएंगी. इसलिए बस शुरू कीजिए. सोचिये मत. भले ही कुछ छोटा हो, just get started.

6).सबसे मुश्किल काम पहले कीजिए:

यह आपकी दिन-प्रतिदिन की चिंता को दूर करने के लिए बहुत ही आसान तरीका हैं. यह पूरे दिन के लिए आपके आत्मविश्वास को बढाता हैं. अगर आपको बड़े काम पहले की आदत एक बार पड़ गई तो छोटे काम आपके लिए एकदम आसान हो जाएंगे.

7).धीमी गति से शुरू करें:

पूरी रफ्तार से किसी कार्य में कूदने के बजाय उसे धीमी गति से शुरू कीजिए. ऐसा करेंगे तो आपके दिमाग को आपके द्वारा किया जाने वाला टास्क ज्यादा मुश्किल नहीं लगेगा जिनता की उसके तेजी से करते वक़्त आपको लगता. कुछ न करे इससे अच्छा हैं की उसे धीरे धीरे शुरू करे.

8).खुद की तुलना खुद के साथ करे, ना की दूसरों के साथ:

आप काम को किस तरह करते हैं और उसका क्या परिणाम आपको मिलता हैं, इस चीज़ की तुलना आप दूसरे लोगो के साथ करेंगे तो यह आपके motivation को बहुत ही जल्दी ख़त्म कर देंगा. कुछ लोग हमेशां आपके आगे ही रहेंगे, क्योंकि उनकी महेनत और उनका हुनर आपसे कही ज्यादा हैं. शायद उनको भी यह हुनर सिखने में काफी वक़्त लगा होंगा. और आप कुछ किए बिना ही खुद को उनके साथ तुलना कर के खुद को अपनी नज़रों में नीचा दिखाते हैं. यह बहुत ही गलत बात हैं. क्योंकि आपकी अलग महेनत और हुनर हैं.

तो अच्छा यह रहेंगा की आप खुद पर ध्यान केन्द्रित करे, अपने परिणामों पर ध्यान केन्द्रित करे. और यह सोचे की कैसे आप उन परिणामों को सुधार सकते हैं. अपने परिणामों की समीक्षा करना बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि भूतकाल में की गई गलती आपसे फिर से न हो.

READ  पदार्थ क्या हैं? What is Matter?

9).अपनी सफलताओं को याद रखें:

जी हाँ,अपनी सफलताओं को याद रखें और अपने मन में उन्हें प्रवाहित करते रहे, बजाय अपनी विफलताओं के. अपनी सफलताओं को लिखिए और उनको नोट कीजिए. क्योंकि आप बहुत आसानी से उनको भूल सकते हैं.

10).हीरो की तरह act कीजिए:

हमारे हीरो, जैसे की महात्मा गाँधी,स्वामी विवेकानंद की तरह एक्ट कीजिए. उनके बारे में पढ़िए. यह खोजिए की उन्होंने अपने जीवन के दौरान ऐसा क्या क्या खास किया जो उन्हें एक हीरो बनाता हैं. याद रखीए की वे भी हमारी तरह एक आम इन्सान ही थे. उन्हें आपको inspire करने दीजिए.

11). मजे करना मत भूलिए:

आपके हर एक काम या टास्क में मजा खोजिये. ऐसा करने से आप उस काम को पूरा करने के लिए प्रेरित रहेंगे.

12). अपने सुविधा क्षेत्र (कम्फर्ट जोन) से बाहर निकलिए:

अपनी चुनौतियों का सामना करना आपके मोटिवेशन को बढ़ावा देता हैं. आलस छोडिये. इसके लिए आपको अपने दिमाग को तैयार करना पड़ेगा. जैसे की मैंने पहले भी कहाँ, ज्यादा सोचिये मत, सिर्फ शुरू कीजिए.

13). असफलता से डरिये मत:

असफलता जीवन का एक स्वाभाविक हिस्सा हैं. इस बात को एक्सेप्ट कीजिए. जैसा कि माइकल जॉर्डन ने कहा:” मैं अपने कैरियर में 9000 से अधिक शॉट और 300 गेम्स चूक गया था. लेकिन मुझे भरोसा था की मैं ये गेम एक बार तो जीतूँगा ही. मैं एक के बाद एक गेम हारता ही रहा, और इसीलिए सफल हुआ”. उन असफलताओं में से बहुमूल्य सबक सिखने की कोशिश कीजिए. यह सोचिए की मैंने उनमे से क्या सिखा?

14). आप क्या करनेवाले हैं उस पर रिसर्च कीजिए:

ऐसा करने से आपको आपकी उम्मीदे और भी वास्तविक लगने लगेंगी. आपको उस कार्य के बारे में और भी ज्यादा हिंट मिलने लगेगी और आपका उस कार्य के लिए आत्मविश्वास भी बढ़ जाएंगा.

15). सकारात्मकता की चुनौती ले (Take The Positivity Challenge):

अधिक से अधिक समय सकारात्मक सोचने के तरीके सीखे. नकारात्मक विचार आप पर हावी हो जाए उससे पहले ही उनको छोड़ने के बारे में सोचे. ऐसा जरुरी नहीं हैं की आप हर वक़्त सकारात्मक ही रहे. लेकिन मुझे लगता है कि हम में से ज्यादातर लोग हमारी सकारात्मक सोच में सुधार कर सकते हैं और उसे इम्प्रूव कर सकते हैं.

READ  आप किसी भी चीज़ को स्पर्श नहीं करते हैं

16). ज्यादा समय तक टीवी या मोबाइल देखना छोड़ दीजिए:

टीवी या मोबाइल देखने में समय व्यर्थ करने से तो अच्छा हैं की आप जीवन में जो करना चाहते हैं वह करे.

17). किसी बड़े कार्य को छोटे छोटे हिस्सों में बाट दीजिए:

सबसे पहले अपने कार्य के छोटे हिस्सों पर ध्यान केन्द्रित करना शुरू कीजिए. एक बार वह कार्य पूरा हो जाए तब दूसरे कार्य पर ध्यान केन्द्रित कीजिए. यह छोटी छोटी सफलताए आपका मोटिवेशन बनाए रखेंगी और उस बड़े कार्य की गंभीरता पर आपका ध्यान नहीं जाएंगा. यह बड़ा काम करने की एक बहुत ही सरल विधि हैं.

18). वह खोजिए जिससे आपको ख़ुशी मिलती हैं:

जिससे आपको ख़ुशी मिलती हैं उसे खोजिए और वोही कीजिए. जितना हो सके उतना. यह बहुत ही जरुरी हैं.

19. अंदाजा लगाइए की आप यह काम क्यों कर रहे हैं:

अगर आप नहीं जानते हैं की आप कोई कार्य क्यों कर रहे हैं या आपके पास उस कार्य को करने का सही कारण नहीं हैं, तब उसमें सफल होना आपके लिए मुश्किल हो जाएंगा. इसलिए ऐसे ही कार्य कीजिए जिसके पास उसे करने का मजबूत कारण हो. अगर आप कोई कार्य नहीं करना चाहते तो उसके बारे में कोई अच्छा कारण खोजिए. और अगर कोई अच्छा कारण नहीं मिल रहा हैं तो उस कार्य को छोड़ दीजिए और कोई दूसरा अच्छे कारण वाला कार्य पकडिये.

20). जिंदगी के हर एक दिन की गिनती कीजिए:

हमारे पास दुनया का सारा समय नहीं हैं. तो अपने आज पर ध्यान केन्द्रित कीजिए और वो कीजिए जो आप वास्तव में चाहते हैं.

(Visited 1 times, 4 visits today)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares