Time Travel Paradoxes In Hindi: Bootstrap Paradox, Butterfly effect and Multiverse Theory

आज हम बात करेंगे समययात्रा से जुड़े कुछ विरोधाभास की in Hindi. Time Travel Paradox: Bootstrap Paradox, Butterfly effect and Multiverse Theory.जिसमे Grandfather ParadoxPredestination Paradox अन्य जैसे कई विरोधाभास शामिल हैं.

हम मेरे इस ब्लॉग में समययात्रा(Time Travel) के विषय से अनुरूप पोस्ट्स “समययात्रा” और “समययात्रा करने के तीन आसान तरीके” पहले ही देख चुके हैं. आज हम बात करेंगे समययात्रा से जुड़े कुछ विरोधाभास के बारे में. Time Travel Paradoxes in Hindi.. क्योंकि अगर समययात्रा मुमकिन हुई तो उसके साथ साथ कई दिमाग चकारा देनेवाले विरोधाभास होंगे ही होंगे. आइये देखते हैं..

The Grandfather Paradox दादाजी का क़त्ल विरोधाभास

grandfather paradox in hindi

grandfather paradox in hindi

इस विरोधाभास के मुताबिक अगर आप किसी समययात्रा करनेवाली मशीन में बैठकर, समय में 80 साल पीछे जाकर, अपने दादाजी का क़त्ल कर देते हैं तब क्या होंगा? तब आपके पिता का कोई अस्तित्व ही नहीं था और इसलिए आप भी कभी पैदा नहीं हुए थे. लेकिन अगर आप कभी पैदा ही नहीं हुए थे तो आप समय में 80 साल पीछे जाकर अपने दादाजी का क़त्ल कैसे कर सकते हैं? क्योंकि आपके दादाजी जिन्दा थे तभी तो आप टाइम मशीन में बैठकर समययात्रा कर सके.

अगर आप अतीत में कोई क्रिया करते हैं तो वह आपके लिए वर्तमान में समययात्रा करना असंभव बना देती हैं. इसका तो यही मतलब हुआ की आप अतीत में कभी समययात्रा कर ही नहीं सकते हैं.

या फिर कई science फ्रिक्शन मूवीज की तरह आप अतीत में समययात्रा कर तो सकते हैं लेकिन अपने दादाजी को कभी मार नहीं सकते. जैसा की मूवी Man in Black 3 में दिखाया गया हैं. जो हो गया हैं वह कभी बदला नहीं जा सकता हैं. आप भूतकाल में गए थे, यह तब होना ही था. यह जरुरी था. आप वहाँ नहीं जाते तब पूरी टाइमलाइन गड़बड़ा जाती.

READ  पृथ्वी की सबसे खतरनाक जगह कहाँ पर है? Most Dangerous Places in The World

The Hitler Paradox हिटलर का क़त्ल विरोधाभास

The Hitler Paradox in hindi

The Hitler Paradox in hindi

यह Grandfather Paradox का ही एक प्रकार हैं. Hitler Paradox इसलिए लोकप्रिय है क्योंकि इसके मुताबिक हिटलर को द्वितीय विश्व युद्ध के होने से पहले ही मार दिया जा सकता था. Grandfather Paradox के अनुसार अगर आप अतीत में कोई क्रिया करते हैं तो वह आपके लिए वर्तमान में समययात्रा करना असंभव बना देती हैं, लेकिन Hitler Paradox के मुताबिक ऐसा कार्य करना जो अतीत में जाने का आपका उद्देश्य ही समाप्त कर दे. चलिए अपनी टाइम मशीन में बैठकर 1932 में चले जाइए और हिटलर को बचपन में ही मार दीजिए. तब द्वितीय विश्व युद्ध कभी होता ही नहीं और लाखोँ जाने बच जाती.

Predestination Paradox पूर्वनियति विरोधाभास

यह एक इंट्रेस्टिंग विरोधाभास हैं. आप एक परिदृश्य पर विचार करें. अपने स्विमिंग पाठ्यक्रम के पहले दिन, आपको भविष्य से एक चिंताजनक संदेश प्राप्त होता है: “आप 2024 में डूबने से मर जाएगे”. आपने इस विषय में कोई भी गलती नहीं करने का निर्णय लिया. आपने जीवन में कभी भी पानी में न जाने का निर्णय लिया.

ठीक 10 साल बाद आपके साथ एक दुर्घटना होती हैं. आपके किसी पूल पर जाते वक़्त आपकी कार पानी में गिर जाती हैं. आप कार में से बाहर निकल आते हैं और पानी का प्रवाह भी ज्यादा तेज नहीं हैं. लेकिन फिर भी आप डूब जाते हैं. क्योंकि आपने कभी भी तैरना नहीं सिखा था. आप हमेशां पानी से दूर ही भागते रहे.

अपने भविष्य को बदलने की कोशिश में आपने उसे बनाने के लिए अपनी पूरी भूमिका निभाई.

READ  Dark Matter And Dark Energy In Hindi श्याम पदार्थ और श्याम उर्जा

Causal loop or The Bootstrap Paradox

यह समययात्रा का एक ऐसा विरोधाभास हैं जिससे भविष्य की घटनाएँ भूतकाल की घटना का कारण बनती हैं,जो की भविष्य में घटना का कारण बनती हैं. दोनों घटनाए space time (स्पेस-टाइम) में मौजूद होती हैं लेकिन उनके मूल को निर्धारित नहीं किया जा सकता है.

 The Butterfly effect बटरफ्लाई इफ़ेक्ट

The Butterfly effect in hindi

The Butterfly effect in hindi

यह विरोधाभास The Hitler Paradox के जैसा ही हैं लेकिन थोड़े अलग स्तर पर. मान लीजिए की आपने गलती से अतीत में एक कीड़े या तितली पर कदम रख दिया. क्या होगा? आप कहेंगे इससे क्या होंगा? कुछ नहीं. लेकिन ऐसा नहीं हैं. ज़रा फिर से सोचिये.

भूतकाल में एक छोटा सा बदलाव भविष्य और वर्तमान में बहुत ही गंभीर बदलाव ला सकता हैं. आपके तितली के मारने पर आप जब वर्तमान में वापस आएँगे तो कुछ और ही नजारा पाएंगे. आप वर्तमान में सबकुछ जैसा छोड़कर गए थे वैसा कुछ भी नहीं होंगा. आपका घर, आपके माता-पिता, आपके दोस्त, कुछ भी नहीं.

मान लीजिये आप उस वक़्त में चले गए जब न्यूटन सेब के उस पेड़ के निचे बैठे थे. आप 5 मीटर की दूरी से उन्हें देख रहे हैं, तभी एक तितली आप पर बैठती हैं और आपने उसे हाथ से जापट मारा. वह तितली बिलकुल उसी वक़्त न्यूटन के पास गई जब वह सेब गिर रहा था हैं. न्यूटन तितली को देखने के चक्कर में उस सेब को देखना भूल जाते हैं…लीजिए, खेल ख़तम..

आपके वापस वर्तमान में आने पर कभी भी गुरुत्वाकर्षण की खोज नहीं हुई होंगी और किसी भी तरह की मशीने भी नहीं बनी होंगी. और शायद आप यह ब्लॉग भी नहीं पढ़ रहे होगे.

READ  Sixth Sense In Hindi छठी इंद्रिय

The Multiverse theory मल्टीवर्स का सिद्धांत

HiHyl4uयह थ्योरी समय यात्रा के दौरान अलग अलग timelines वाले अलग अलग समानांतर ब्रह्माण्ड (Parallel Universe) के अस्तित्व की ओर इशारा करती हैं. इसके अनुसार आपके अतीत में जाने पर वहां से एक नईं टाइमलाइन शुरू हो जाएंगी.

मतलब की अगर आप भूतकाल में जाते हैं और अपने दादाजी का क़त्ल कर देते हैं तो…तो कुछ भी नहीं होंगा. आपने एक नयी टाइमलाइन बना दी हैं जो की अस्तित्व में नहीं हैं. लेकिन ओरिजिनल टाइमलाइन पर इसका कोई भी असर नहीं हुआ होंगा. बस आप अपनी ओरिजिनल टाइमलाइन में कभी वापस नहीं आ पाएँगे.

लेकिन अगर आप भविष्य में समययात्रा कर पाएंगे या नहीं यह जानना चाहते हैं तो एक काम कीजिये. कोई एक तारीख तय कीजिए और बड़ा सा फंक्शन रखिये. वहां पर एक स्टेज बनाइये. सोचिये अगर आप भविष्य में समययात्रा करते होंगे तो भूतकाल में आपके द्वारा तय की गई हुई तारीख और जगह पर ही आना चाहेंगे. अगर आपका नसीब अच्छा रहा तो आपका भविष्य का वर्जन उस स्टेज पर प्रकट होगा. क्यों सही कहा ना…और अगर प्रकट नहीं हुआ तो आपको बहुत ही दुःख होंगा…

(Visited 281 times, 4 visits today)

25 Comments

  1. Cp mishra

    Aisa hi prayog ek bar Stefan Hawkins be bhi kiya that,but koi nahi aaya…..iska mtlb ye bhi to ho sakta hai ki samay me peeche Jana mumkin hi na ho.

    Reply
    1. sumit

      Iska jwab Stephan hawking ko scientist phle hi de chuke hai and. – koi future se isliye nhi aya kyonki woh sabhayta bhut viksit hogi isliye unhe past main koi interest nhi hoga jaise hume chitiyon se koi matalb nhi hota hai

      Reply
    2. Shubham

      My friend,mai shubham class10 ka student hoo aur aaj mai appne ak prayog ke baare me aapko bataunga.maan ligie ki aap ak time machine me hai aur earth ke atmosphere ke baahar hai aur us time machine ke samai bitne ka ratio hamare earth se 24:1 hai matlab aggar uss machine ka 1hour hamare earth ka 24hour ke barabar hai.Aur dono ka samai ak dushre pe neervar nahi hai ,kayoki time machine uss aadmi ke time ko change karegi jo usske under hai na ki bahar,to aggar aap uss me 2hour bitainge to earth pe 48hour bitt chuka hoga,matlab aap 48-2=46hour future me hoge,aur agar aap ushe time machine se 1hour past me jaoge to app 48hour future me hoge kayoki aap sirf aapna time ko ghata rahe ho na ki earth ki time ko,to agar aap 1hour past me jaoge to,pahala appka time earth ke time se 24hour peeche chala jaiga,aur jo 1hour aap uss time machine me bitaoge us samai earth earth appna ak aur 24hour pura karlega kayoki earth ka time Time machine ke time pe depend nahi karta to app24+24=48hour future me pahuch jaiega to dono hi condition me aap future me jaie ga to past me jana possible nahi hai.Agar aisa hota to koi na koi aajtak ke history me past me jarur aata.Thanx.

      Reply
      1. kb

        Subham Aur acchi tarah soch lo..ap grandfather ko mil sakte hai.by grandfather paradx

        Reply
  2. sarvesh

    Stephen hawking koisis kar rahai hai aur bhi log soch rahai hai ki time travel Kaiser karai.

    Reply
  3. Rajnish

    Agr parallel universe bnega past ko disturb krne p to , man liya jaye many peoples gone to past and disturb them, then many parallel universe are formed ,and all the universe works on the earth then how they use the energy of earth ,whereas earth has limited energy ,to kya parallel universe k karan energy ka formation hota h , ya all are only and we are only hypothetical

    Reply
  4. veer singh

    Nnnnm

    Reply
  5. veer singh

    It’s theory understanding of whole world people compulsory to know what is progressive thought. ,may be people truly leave off all vast thought exp ego,jealousy, enger nd leadership, .because men want to know the truth . The Every religious places value may be decrease, but the place may be being used as a research hub. I must be spot nd desire to expensation of this theory

    Reply
  6. veer singh

    It’s a really infinity travelling. If our existence not built by the future or past, that question may be why we stop the thinking this way, only we mostly think our children’s future, Stephen Hawkins, thought is too much energetic, yes if the star goes his end life, why not this earth has a fix life, -‘-”””””’

    Reply
  7. naveen rajput

    Yes time travell is possible .. if u know how?
    Then contact me nv88990@gmail.com

    Reply
  8. Deepak

    I like it

    Reply
  9. sachin kumar

    mere hisaab se time travel possible hai ( PAST ) me bhi kyunki agar ham past me jaakar grandpa ko maar de to bo ek alag duniya ban jaayegi , aor ek duniya hmaari hogi ,aor ek jisme grandpa mar gaye honge

    Reply
    1. zayn

      to tu kaise paida hoga

      Reply
  10. Vinay

    Only requesting that never write fake.You are the best.

    Reply
  11. Rahul tiwary

    Hum past ko sirf dekh sakte hai or bhavishy ko dekhkar persent ko badal sekaten hai (mere paas theory hai.

    Reply
  12. Rustam Azad

    Man lete h ek trian jo light k speed se chal rhi h to train k andr jo log h unka time bahr k time se slow h to kya train ki jo age hogi wo andr k hisab se badhegi k bahr k hisab se plzz answer

    Reply
    1. zayn

      bilkul andar ke hisab se badhegi kyuki andar baitha admi aur train dono hi time travel kar rahe hai..

      Reply
  13. Rustam Azad

    Anyone plz answer my question

    Reply
    1. umang prajapati (Post author)

      आप कुछ भी कर ले लेकिन प्रकाश से ज्यादा गति प्राप्त नहीं कर सकते हैं…यह कुदरत और भौतिकी के नियमों के विरुद्ध होगा…..you just can’t obey nature…

      Reply
      1. Rustam

        Manne me kya jata h agr man le ho gya tb train ki age kiske hisab se badhegi

        Reply
  14. नमित राऊत

    मेरे खयाल से अगर आप past मे जाकर अपने दादाजी को मारते हो तो. यह multiuniverse कि एक संभावना होगी. यानी दुसरे युनिवर्स मे आपने कभी आपके दादाजी को मारा ही नही होगा. इसिलीये आपका जनम भी संभव है.

    Reply
  15. Abhishek kumar AB4

    Friends my name is Abhishek Kumar I read in class 12 main bhi aapko time Travelling ke baare me kuchh suggest karna chahata hoon yahaan samajhne vali baat hai ki koi object shayad aisa nahin ho sakta ki speed of light ko cross kar le yah parikalpna main hi possible hai kyonki Newton jaise scientist ne bhi kuchh apne bhautik prayogo kisi unjaan madhyam ki parikalpana hi ki this Yadi hum kisi madhyam ki parikalpna karenge to tabhi yah sambhav hoga YADI koi object prakash ki raftar ko ek nishchit samay me par kar le to uska astitva hi khatam ho jaaye ga sochiye aisa kan had disha me yatra karne ke liye tatpar ho jaiga jaraa sochiye ki jab kisi samay kisi visheah position me vah rukega tab uski age utni hi rahegi jitni yatraa shuru karne ke pehle thi kyonki vah samayjaal she mukt ho jaayega is anusar samay me yatraa sambhav ho sakti hai is vishay meain future me research karta rahoonga adhik jaankarri ke liye aap mujhe Abhikn44@gmail.com par apne vichar bhejen Thank you

    Reply
    1. zayn

      spasht rup me bataye kya kehna chahate ho aap

      Reply
  16. Abhishek Anand

    Sir Apne hi is post me likha jo hona he wo hoke rahega ab aapne likha ki newton titli dekne me vsyat ho gaye ab sochiye vo din unki life ka aakri din nahi ab jo hona hai vo hoke rahega ho newton aaple kabhi bhi ped se girte hue dekh sakte hai.
    Please Anwer My Question
    THANKS

    Reply
  17. Son frost

    Rustam wo andar ke hisaab se badegi because speed ki limit 3×10 ki power 8 km/s KO banaye rakhne ki liye time khud ko slow kar leta hai

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares