ब्लैक होल के अन्दर का सफ़र कैसा होगा?

Hello friends, आज हम बात करेंगे ब्लैक होल्स की. कैसा महसूस होता हैं ब्लैक होल के अन्दर जाने पर? कोई भी चीज़ ब्लैक होल बन सकती हैं अगर आप उसे छोटी से छोटी साइज़ में कॉम्प्रेस कर सके. आप, मैं ,यह पूरी दुनिया, सबकुछ जो इस ब्रह्माण्ड में हैं ब्लैक होल बन सकता हैं. ब्रह्माण्ड में किसी भी चीज़ की एक छोटी से छोटी साइज़ होती हैं जिसे “Schwarzchild radius” कहा जाता हैं. जब किसी पदार्थ को उसकी Schwarzchild radius जितना कॉम्प्रेस किया जाता हैं तब उसका गुरुत्वाकर्षण खिंचाव इतना बढ़ जाता हैं की उससे प्रकाश भी नहीं बच सकता. तब आपके पास होगा एक नया बना हुआ ब्लैक होल.

अगर आप माउंट एवेरेस्ट को 1 नैनोमीटर से भी छोटी साइज़ में कॉम्प्रेस कर दे तो वह एक ब्लैक होल बन जाएगा. अगर आप पूरी पृथ्वी को एक छोटी सी मूंगफली के आकार में कॉम्प्रेस कर देंगे तो आप के पास एक नया ब्लैक होल होंगा. लेकिन सौभाग्य से हमारे पास एवेरेस्ट और पृथ्वी को इतनी छोटी साइज़ में कॉम्प्रेस करने के कोई तरीखे मौजूद नहीं है.

लेकिन एक तारा, जो साइज़ में हमारे सूरज से भी बहुत बड़ा हो, जिसके पास बहुत ज्यादा बड़ी Schwarzchild radius होंगी, और जब ऐसे तारे का इंधन ख़तम हो जाएगा और वह खुद को ज्यादा गर्म नहीं रख पाएगा, तब वह एक छोटे से अतिसूक्ष्म बिन्दु के स्वरुप में अपने ही अन्दर ढह जाएगा. जिसे विलक्षणता(Singularity) कहते है. तब उसका घनत्व अनंत हो जाएगा और गुरुर्त्वकर्षण बल इतना ज्यादा मजबूत हो जाएगा की कुछ भी उससे बच नहीं सकता. प्रकाश भी नहीं.

distortion

ब्लैक होल बाहर से कैसा दीखता हैं? हम जानते हैं की गुरुत्वाकर्षण space और time को मोड़ता हैं. पृथ्वी पर से हमारे सूरज के पीछे के तारे हमें उनके मूल स्थान से थोड़े अलग स्थान पर दीखते हैं. क्योंकि हमारे सूरज का गुरुत्वाकर्षण बल उन तारों से आती रोशनी को मोड़ देता हैं. इस विषय में ब्लैक होल का प्रभाव बड़ा ही नाटकीय होता हैं. ब्लैक होल के पीछे की चीजों से आति हुई रोशनी को वह विकृत (distort) करता हैं और smears या smudges का निर्माण करता हैं.

READ  छोटे जानवर दुनिया को स्लो-मोशन में देखते हैं Small Animals Live in a Slow-Motion World in Hindi

चलिए अब ब्लैक होल के अन्दर चलते हैं. जैसे जैसे हम अन्दर जायेंगे आकाश की विकृति(distortion)  अधिक से अधिक बढती जायेगी. हमारी नजर के सामने का सबसे बड़े से बड़ा हिस्सा अँधेरे ब्लैक होल का दिखाई देने लगेगा जो धीरे धीरे बढ़ता जाएगा.देखते ही देखते हमारी आँखों के सामने के  आधे क्षेत्र को अँधेरा निगल जाएगा. तब हम ” फोटोन स्फीयर ” तक पहुँच जायेंगे. इस बिंदु पर, प्रकाश पूरी तरह से ब्लैक होल के अन्दर निगला नहीं जा रहा होगा और पूरी तरह से उसके बाहर भी नहीं जा रहा होगा. इस जादूई बिन्दु पर अन्तरिक्ष, प्रकाश और photons वास्तव में ब्लैक होल की परिक्रमा कर रहे होते हैं. अगर आप एक पल के लिए इस जगह पर रूक जाए और अपने सामने की तरफ देखेंगे तो अपने सीर का पीछे का हिस्सा देख सकेंगे. यानी की अपने पीछे के हिस्से को आप अपने सामने देख सकेंगे.

READ  Singularity In Hindi विलक्षण

गुरुत्वाकर्षण सिर्फ space को ही नहीं मोड़ता, बल्कि time को भी मोड़ता हैं. ब्लैक होल के नजदीक गुरुत्वाकर्षण बल इतना मजबूत होता हैं की, अगर आप को आपका कोई दोस्त ब्लैक होल  के अन्दर कूदता हुआ देखे तो उसे कुछ अजीब ही दिखाई देगा. वह आप को तुरंत ही ब्लैक होल के अन्दर खिचे जाने के बदले धीरे धीरे अन्दर की तरफ जाता  हुआ देखेंगा. वह तब तक आप को धीरे धीरे निचे जाता हुआ देखेंगा जब तक आप Event-horizon नाम के बिन्दु तक न पहुँच जाए. यह एक ऐसा बिन्दु हैं जहाँ एक बार चले गए तो फिर कभी भी वापस नहीं आ सकते. यहाँ पर अब प्रकाश भी एक बार अन्दर आ जाने पर बाहर नहीं जा सकता हैं. आपके दोस्त को आप space में जमे हुए प्रतीत होंगे. धीरे धीरे फीके होते जायेंगे और अंत में दिखाई देने बंद हो जायेंगे. आपका दोस्त आप को event-horizon पार करते हुए कभी भी नहीं देख पायेगा.

लेकिन आप के लिए हालात अभी भी एकदम ठीक होंगे. आप अभी भी Event-horizon के अन्दर ही जा रहे होंगे. जैसे जैसे आप ब्लैक होल की Singularity की तरफ बढ़ते जायेंगे तो आपके लिए पूरे ब्रह्माण्ड का द्रश्य छोटे से छोटे बिन्दु में कॉम्प्रेस होता जाएगा. लेकिन अब भी आप को चोट पहुंचनेवाले पॉइंट तक पहुँचने में कुछ घंटे लगेंगे. जैसे जैसे आप Singularity के नजदीक पहुंचेंगे वैसे वैसे गुरुत्वाकर्षण में बढौतरी होती जायेंगी. आपका पूरा शरीर गुरुत्वाकर्षण की वजह से Singularity की तरफ खींचने लगेगा. वैज्ञानिक इसे Spaghettification कहते हैं.

READ  Amazing Facts in Hindi - कुछ आश्चर्यजनक तथ्य

इस बिन्दु तक पहुँचते ही आप मर जायेंगे. आप के शरीर के एक एक अणु हिंसक रूप से फट जायेंगे और एकदूसरे से अलग हो जायेंगे. उसके बाद वह विलक्षणता में मिल जायेंगे. हकीकत में उसके अन्दर क्या होता हैं यह तो हम पूरी तह से नहीं जानते हैं. शायद वह भौतिकी के नियमो का उल्लंघन कर के पूरी तरह से कहीं गायब हो जाते होंगे या फिर ब्रह्माण्ड में दूर किसी दूसरी जगह पर फिर से बाहर निकलते होंगे. ब्लैक होल्स के अन्दर असल में क्या होता हैं यह तो आज भी एक राज ही बना हुआ हैं.

(Visited 1,711 times, 1 visits today)

23 Comments

  1. Sampat

    This is the most interested subject in physics

    Reply
  2. xzy

    Black holes ke andar jaane par wahan time space or gravity hamesha ke liye kahin gayab ho jaate hain or blacks ke dusri taraf kya hota Hai jesa sochna bekar Hai qki wo anant me chala jata Hai or blacks holes khud ba khud ek khaas point par kamjor pad jata Hai or jab khatam hota Hai to wahan kuch Bhi nahi hota

    Reply
    1. yash

      Black hoal kaa dusree aide white hoal hota haa like a second daimantion.

      Reply
  3. karan

    Black is in inside to travel then are jouney not finish. Because it these infinity path in black hol.

    Reply
  4. M.K.Suman

    its very intresting matter but so sad nobody knows perfectly about it bcoz nobody has possibilities to get into n see beyond it…M.K.Suman

    Reply
    1. Kaustubh

      But agar hum apne body ko pure tari ke se protect kare yani metal ke andar dhak le to kya hum bach sakte hai?

      Reply
      1. umang prajapati

        bilkul nahoi

        Reply
  5. deepak singh

    I want to know , what is similar between black things ant black hools, and also different

    Reply
  6. binder behera

    kya black hole ke kendra me sabhi padartho ke sub atomic particals pure energy me badal jate ho aur ek white hole me khulte ho jo ki ek samanantar brahamand me ho space time ke fabric ko black hole itna deep kr de ki wo samanantar brahamand me khul jyea aur un samanantar brahamando me ek big bang ho kya aisa ho sakta hai kripya btaiye

    Reply
  7. gaurav

    Bhagwaan ya GOd k raajon ko koi nhi jaan sakta poori tareh.????????? 🙂

    Reply
  8. Bhisham raj singh

    Hamari jakari puri hui

    Reply
  9. Manish kumar

    mk

    Reply
  10. Khushi ram

    Black hole ka akar kis prkar ka hai kya vhai gol akar ka hai ya chakor akar ka ya vhai nirankar ka hai uska koi akar nahi us ka kya akar hai

    Reply
  11. hitendra singh

    black hole koi khelne ki jagah nahi hai go ek dust been ki tarh hair Jo space ke under ki sari gandgi Jo uski graviti me aati hair go uske under aaker uske moluclue space ke presser me aaker bigcrunch me badal hate hai uske baad vo ek matter me badal ke us puure pradat me 1000000 ve baagh me tutker crush ho hate hai aur go chota banker khatam ho jata hai black hole se koi space travel nahi ho sakta hai kiyoki uske chor me gravity bahut jyada hot I hai jisse uske under hate hi spacecraft kaham ho jaiga ek theory se space moda jasaka hai hai per space me much hai hi nahi to modenge kya ham rassi ko mod sakte hai per space ko nahi kiyoki go to much hai hi nahi so black hole se space travel ya dusri duniya me Jane ka koi rasta nahi hai

    Reply
  12. The physicst

    i stongrly belive agar aap black hole me jay to dusri taraf bilkul sahi salmat nikle ge black hole se ek se dusre glaxy me ja sakte h.

    Reply
  13. nandu

    Hai friend Mai black hole me jakar वापस Aa ya Hu Mai jaise ge black hole me gya vaise hi Mai स्वर्ग ke undar aa gya . Trust me 814925418

    Reply
  14. nandu

    Hai friend Mai black hole me jakar वापस Aa ya Hu Mai jaise ge black hole me gya vaise hi Mai स्वर्ग ke undar aa gya . Trust me 814925418 mera phone number hai .phir bhgvan ke ek विमान ne mujhe bahar chhod Diya us viman par grutav bal ka koi prbhav nhi padh rha tha

    Reply
    1. AAMIR

      bhai tu pagal he?

      Reply
  15. narendar

    nandu itna jut nahi chal sakta

    raajju0117@gmail.com

    Reply
  16. Kamal Krishna

    I LIKE IT THE MOST. KEEP MOVING ON..PLEASE SEND THESE CONTENTS TO MY EMAIL

    Reply
  17. Manju ram

    मुझे लगता है कि black hole singularity तक पहुँचने के बाद शायद मरते ना हो बल्कि किसी दूसरे ग्रह या दूसरी दुनिया मे पहुँच जाते हो ये black hole शायद टाइम ज़ोन का काम करता हो….मेरी ये सोच मुझे लग तो बेवकूफी ही रही है पर आया मन मे यही और सही बात शायद हम सबको कभी पता ना चल पाये

    Reply
  18. Sajid

    Muje lagta he ki black hole ek galaxy ko absorbe karta he owr is procces me uuse infinity time lagta he owr fir ek new galaxy produce karta he . Owr us black hole ka jab absorb ka procces khotom ho jayega tab us khali jagah me ek owr galaxy ek dusra bla ck hole se produce hoga…. Owr ye procces salta ah raha he owr hamesa salta rahega.god is a system of universe

    Reply
  19. raj

    nandu ki baat ka bura mat mano usne jo anubhav kiya vo likh diya, aur is post ko likhne wale kiya blackhole ke ander ja ke aaye the?

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares