आयाम क्या होते हैं? What Are The Dimensions? In Hindi

आप ने सिनेमाघरों में 3D फिल्में तो देखि ही होगी. 3D का मतलब होता हैं 3rd Dimension. लेकिन What Are The Dimensions? यह आयाम क्या होते हैं? 3D फिल्म को देखते वक्त आप को कोई भी द्रश्य आपकी आँखों के सामने इस तरह घटित होता दीखता हैं जैसे चीजे आपके आसपास से गुजर रही हो. जैसा आप अपनी सामान्य जीवन में अनुभव करते हैं. अगर आप 2D(2nd Dimension) में फिल्म को देखेंगे तो वोह सिर्फ आपको पडदे पर ही दिखाई देंगी. वैसे दोनों तरह की फिल्मे पडदे पर ही दिखाई देती हैं लेकिन 3D फिल्म कुछ ज्यादा ही असली महसूस होती हैं. तो आप को 3rd Dimension और 2nd Dimension के बिच का फरक तो समज आ ही गया होगा.तो आज हम यहाँ बात कर रहे हे Dimensions की. हम इन्हें हिंदी में आयाम कहते हैं. लेकिन यह Dimensions सिनेमा में दीखते 2D या 3D फिल्म की तरह नहीं हैं. हमारा यह ब्रह्माण्ड भी कुछ ऐसे ही अलग अलग Dimensions से बना हुआ हैं. हम सब अभी 3rd Dimension में हैं. हम सब जो देखते हैं या महसूस करते हैं वह 3rd Dimension की रियालिटी हैं. हम यहाँ पर लंबाई, चौड़ाई, और गहराई को महसूस कर सकते हैं या देख सकते हैं. यानी की अभी हम पूरे ब्रह्माण्ड को हम 3rd Dimension के नजरिये से ही समज रहे हैं. हमारा ब्रह्माण्ड ऐसे कई Dimensions से बना हैं लेकिन हम 3rd Dimension की सच्चाई को ही समज सकते हैं. तो आइये इन अलग अलग Dimensions को उनके क्रम के अनुसार समजते हैं.

0th Dimension
0th Dimension को समज ने के लिए आप एक बिन्दु को ले लीजिये. यहाँ पर लंबाई, चौड़ाई, और गहराई  जैसी कोई भी चीज़ नहीं होती. अगर आप यहाँ होते तो आप को केवल एक ही जगह पर रहना पड़ता क्योंकि यहाँ आपके लिए न ही कोई दाया-बाया होता और न ही उपर-नीचें. आप किसी भी दिशा में किसी भी तरह की मूवमेंट नहीं कर सकेंगे. आपका सारा जीवन एक ही बिन्दु पर समाप्त हो जाएगा.

1st Dimension
जैसे की हमने 0th Dimension  में देखा की वहाँ का अस्तित्व एक बिन्दु में ही होता हैं. अगर हम ऐसे दो बिन्दुओं को ले और उनको जोड़े तो वह एक रेखा बनेगी. यह रेखा 1st Dimension को दर्शाती हैं. अगर आप यहाँ होते तो एक बिन्दु से दूसरे बिन्दु की तरफ केवल एक ही दिशा में मूवमेंट कर सकते. अगर आप 1st Dimension के प्राणी होते आपके लिए केवल “आगे-पीछें” जैसी चीज़ होती. आप को यहाँ दाएं-बाएँ या उपर-नीचे जैसी चीजों के बारे में कोई भी आईडिया न होता.

READ  Lucid Dreaming In Hindi



2nd Dimension

1st Dimension एक रेखा जैसी रचना का ही अस्तित्व होता हैं. अगर हम ऐसी दूसरी रेखा को ले और दोनों रेखाओं को जोड़ दे तो हमे मिलेंगा 2nd Dimension. यहाँ पर हम लम्बाई और चौड़ाई होगी लेकिन गहराई नहीं होगी. दूसरी भाषा में कहे तो अगर आप 2nd Dimension में रहनेवाले प्राणी होते तो आप आगे-पीछें और दाएं-बाएँ, किसी भी दिशा में जा सकते थे. लेकिन यहाँ पर भी आप को उपर-नीचे जैसी चीज़ का कोई आईडिया न होता. महान वैज्ञानिक Carl Sagan ने 2nd Dimension के प्राणियों को Flatlanders नाम दिया था. वोह कुछ प्लेयिंग कार्ड्स में होते चित्रों की तरह दीखते हैं. उन्हें ऊपर दी गयी तस्वीरों में दिखाया गया हैं. आप इस वक़्त यह ब्लॉग अपने कंप्यूटर या मोबाइल पर 2D में ही देख रहे हैं.

READ  आप किसी भी चीज़ को स्पर्श नहीं करते हैं

3rd Dimension

आप अभी 3rd Dimension में हैं इसलिए आप ऊंचाई और गहराई को महसूस कर सकते हैं. यहाँ पर आप आगे-पीछें, दाएं-बाएँ और उपर-नीचे तीनो चीजों को समज सकते हैं और महसूस कर सकते हैं. आप इस वक्त जिस ब्रह्माण्ड को समज रहे हैं वह 3rd Dimension के हिसाब से समज रहे हैं. लेकिन यहाँ पर एक गौर करने लायक बात हैं जिसे समजना बहुत जरुरी हैं. आप 3rd Dimension में रह कर किसी चीज़ को देखते हैं वह हमेशां 2D में ही देखते हैं. आप वास्तव में 3D चीजें देख नहीं सकते, केवल उन्हें महसूस कर सकते हैं. हम 3rd Dimension में रहकर आगे के तीन Dimensions को तो आसानी से समज सकते हैं. लेकिन हमारे 3rd Dimension के आगे के Dimensions को हमारे लिए समजना बहुत ही मुश्किल हैं. इन Dimensions को न हम कभी देख सकते हैं और न ही महसूस कर सकते हैं. क्योंकि आप केवल अपने से निचे के Dimensions को ही देख और समज सकते हैं. इसलिए आगे के Dimensions के बारे में हम गणित और विज्ञान की मदद से कल्पना कर सकते हैं.

4th और 5th Dimension

Fourth Dimensional Tesseract

हम कह सकते हैं की हैं की 0th Dimension कुछ नहीं’ हैं, 1st Dimension लम्बाई हैं, 2nd Dimension चौड़ाई हैं और 3rd Dimension गहराई हैं. तो 4th  Dimension क्या हो सकता हैं? वैज्ञानिको का मानना हैं की 4th Dimension समय(TIME) हैं. यहाँ पर समय का मतलब हैं अवधि. अगर आप 4th Dimension में रहनेवाले प्राणी हैं तो आप समय में आगे और पीछे कहीं भी जा सकते हैं.

READ  हम रोते क्यों हैं?
Fifth Dimensional Tesseract Interstellar

अगर आप 5th Dimension के प्राणी हैं तो आप समय में आगे पीछे जाने के अलावा समय में किसी भी दिशा में जा सकते हैं. समय में किसी भी दिशा में जाना !! सुनकर दंग रह गए ना. इसे इमेजिन करना भी हमारे लिए नामुमकिन हैं क्योंकि हम अपने से ऊपर के Dimensions को कभी नहीं समज सकते. लेकिन मेरे ख्याल से यहाँ पर समय में किसी भी दिशा में जाने का मतलब हैं : संभावनाए. मतलब 5th Dimension के प्राणी समय में किसी भी संभावना को देख सकते हैं या महसूस कर सकते हैं.

मेरा सुजाव हैं की आप 5th Dimension को अच्छे से समजने के लिए Christopher Nolan की मूवी Interstellar जरुर देखिएगा. String Theory के मुताबिक कुदरत में 11 Dimensions हो सकते हैं. 6th से 11th Dimensions अनंत और सोच की सीमाओं के बहार की संभावनाओं से भरे हो सकते हैं. लेकिन उन्हें देखना हमारे लिए मुश्किल ही नहीं नामुमकिन हैं.

(Visited 177 times, 1 visits today)

6 Comments

  1. SamOSponholz

    You should engage in a contest for just one of the best sites
    online. I undoubtedly will recommend this web site!

    Reply
  2. rahul

    i already seen interstaller but i do not learn due to hard laungage and scientific equation

    Reply
  3. Sandeep thakur

    Wow its emagin

    Reply
  4. pappu bhoir

    besiclly 4th dimension is time base gravity

    Reply
  5. जयनरायण

    Comment…समय चौथा आयाम नही हो सकता….१-कय्ोिक 1D,2D,3D तीनो मे समय पैरेलर उपसि्थत और ऊपर का कोई भी आयाम कभी भी िनचले आयाम मे नही हो सकता|
    २-नीचे के सभी आयाम ऊपर के आयाम मे होने चािहये तभी वह िनचले आयामो को इिक्जस्ट करेगा|

    Reply
    1. Manohar

      Nice comment jainarayan

      Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares