बिग बेंग के पहले क्या था?

लगभग 13.7 अरब साल पहले एक बड़े धमाके के साथ बिग बेंग की शुरुआत हुई थी. उसके बाद ही हमारा पूरा ब्रह्माण्ड अस्तित्व में आया. लेकिन उसके पहले क्या था ? क्या हुआ था? बिग बेंग किस वजह से हुआ  यह तो हमने आगे की पोस्ट में देख लिया. आज देखते हैं बिग बेंग के पहले क्या था? What Was Before The Big Bang? वैसे तो इसके बारे में कई theories मौजूद हैं. लेकिन मेरे मुताबिक यह थ्योरी प्रभावशाली हैं. आइये देखते हैं.

What Was Before The Big Bang

बिग बेंग से पहले कुछ भी नहीं था यह बात गलतफहमीया पैदा करती हैं. कुछ नहीं से कुछ लोगो का मतलब होता हैं खाली जगह. लेकिन बिग बेंग से पहले space का अस्तित्व भी नहीं था. यहाँ पर शायद ” कुछ नहीं ” का मतलब हैं कुछ बहुत ही सूक्ष्म. यहाँ पर कोई एक ऐसी चीज़ थी जो कुछ नहीं थी. एक तरह से ब्लैक होल जैसी रचना थी. जिसका अस्तित्व कुछ नहीं था. इस चीज़ को आप परमाणु से भी छोटी साइज़ का सोच सकते हैं. लेकिन इसके अन्दर किसी भी तरह की खाली जगह नहीं थी. यह संरचना पूरी तरह से घनी (dense) और सम्पूर्ण (absolute) थी.

READ  ठंड जैसी कोई चीज़ नहीं होती There is no Such Thing as Cold

हम जानते हैं की सब कुछ जिससे हम आज परिचित हैं ” कुछ नहीं ” से आया हैं. में इस शुरूआती और सूक्ष्म संरचना को ” कुछ नहीं ” (Nothing) कह सकता हूँ. 13.7 अरब साल पहले जब ब्रह्माण्ड की शुरुआत नहीं हुई थी तब वह अतिसूक्ष्म बिन्दु के स्वरुप में singularity के तौर पर अस्तित्व में था. जिसका अचानक से विस्तार होने लगा और उसके परिणाम स्वरुप समय और space की रचना हुई.

अब इस बिन्दु में किसी कारण अचानक ही अस्थिरता पैदा हुई. अचानक ही यह घना बिन्दु एक विशाल धमाके में परिवर्तित हुआ. धमाके के साथ ही समय, अंतरिक्ष , उर्जा और forces अचानक से अस्तित्व में आए. शुरुआत के साथ ही इसका अपने मूल विस्तार से सेंकडो गुना ज्यादा विस्तार हो गया और उसका यह विस्तार आज तक चल रहा हैं. लेकिन यह dense पॉइंट अगर शांत था तो इसके अचानक से अस्थिरता कैसे पैदा हुई. इसके अलावा अगर दूसरी कोई चीज़ मौजूद ही नहीं थी तो इसमें अस्थिरता कैसे आ सकती थी? सबसे पहली मूवमेंट क्या थी और वह कैसे पैदा हुई? लेकिन दिमाग चकारानेवाली बात तो यह हैं की यह मूवमेंट हुई थी. तभी तो आज सबकुछ अस्तित्व में हैं. आज का यह पूरा ब्रह्माण्ड उसी मूवमेंट का नतीजा हैं.

READ  Lucid Dreaming In Hindi

हो सकता हैं इसमें भगवान का ही हाथ हो. यह सब कुछ किसी सुप्रीम पॉवर के बिना संभव ही नहीं हैं. कुछ लोगो का इस बात पर instant सवाल होगा की, भगवान को किसने बनाया? well, इस बात का मेरे पास कोई जवाब नहीं हैं. कहा जाता हैं भगवान अनंत और अनादी हैं. यह बात सच भी हो सकती हैं. लेकिन कुछ तो हैं जो हम कभी समज ही नहीं सकते. शायद भगवान ने ही हमारी रचना की हो और उन तक पहुँचने की या उनकी सच्चाई जानने की सीमाए भी उन्होंने बनाई हो. बिग बेंग के पहले क्या था? और बिग बेंग किस वजह से हुआ? यह सवाल भी शायद उन सीमाओं में से एक हो.

READ  हमे चीजें डरावनी क्यों लगती हैं?
(Visited 180 times, 1 visits today)

14 Comments

  1. Mo. Shoib Khan

    Qua Aisa Koi Point Nahi Jha Pr Universe Ka End Ho?

    Reply
    1. Anshul

      Universe is Continuosly Expanding. So There is No End. But I Can’t Say Deffinietly. It has Edge

      Reply
    2. Roni dey

      Universe ka koi end nhi h maan lo aap space me khade ho agar aap saamne space me bohot door tk dekh Sako to aap apne aap ko khada dekhoge…. ye thoda sar ko Chakra dene Wala h pr physicist yehi kehte h…

      Reply
    3. Kailash Singh Jeena

      No

      Reply
    4. Kailash Singh Jeena

      No, end of univers can be with a blast as starting of univers but human & other can not live to know this Theory.

      Reply
  2. krishna

    रोचक जानकारी.

    Reply
  3. LiaGHighnote

    Thank you for sharing your thoughts. I truly appreciate
    your efforts and I am waiting for your further write ups thank you once again.

    Reply
  4. Shubham Patil

    nice information i like it… 🙂

    Reply
  5. Shubham Patil

    please post more some information about space..

    Reply
  6. A.P.Singh

    भगवान ने यह सृष्टी कियूं की? तब मेरे गुरु ( श्री श्री आनन्द मूर्ति जी ) ने कहा | तुम यह भगवान से ही पूछ लो| भगवान से मिलने का रास्ता मै बता देता हूँ |यथा ब्रामंडे तथा पिंडे .The universe is the psychic and internal projection of Cosmic Consciousness,and ours is a reflected projection.(P.R.Sarkar)

    Reply
    1. umang prajapati

      आप यह पोस्ट अवश्य पढिएगा

      http://www.universeinhindi.com/god-universe-spirit-and-big-bang-in-hindi/

      Reply
  7. siddharth

    i like it

    Reply
  8. siddharth

    plese explain about string theory

    Reply
  9. Siddharth

    likely

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares