हमे हमेशां चाँद का एक तरफ का हिस्सा ही क्यों दीखता हैं? Why Can’t We See The Dark Side Of The Moon?

Why Can’t We See The Dark Side Of The Moon हमे हमेशां चाँद का एक तरफ का हिस्सा ही क्यों दीखता हैं?

में जब छोटा था और रात को या दिन को जब चाँद को देखता तब हमेशां यह सोचता था की आसमान में हर दिन इसकी एक ही बाजु क्यों दिखती हैं? फिर चाहे वह आधा दिखे या पूरा. उसकी दूसरी तरफ की बाजु क्यों नहीं दिखती? आखिर वह दिखाती कैसी होगी? आज आप यह जान लेंगे. आपने चाँद की अँधेरी बाजु (Dark Side) के बारे में तो सुना ही होगा. जिस तरफ हमेशां अँधेरा ही रहता हैं , क्योंकि चाँद की इस तरफ कभी भी सूर्य का प्रकाश नहीं पहोंचता हैं.
पृथ्वी सैद्धांतिक रूप से अपनी धुरी पर घुमती हैं यह तो हम सब जानते हैं. उसी तरह चाँद भी अपनी धुरी पर घूमता हैं. लेकिन इस दौरान चाँद जितना समय उसकी धुरी पर एक चक्कर लगाने के लिए लेता हैं ठीक उतना ही समय पृथ्वी का एक चक्कर लगाने में लेता हैं. लेकिन लाखों साल पहले चन्द्रमा आज की तुलना में बहुत ही तेज गति से घूमता था. फिर समय के साथ साथ पृथ्वी ने अपने गुरुत्वाकर्षण से चाँद के इस रोटेशन को धीमा कर दिया. हमारे आज के चन्द्रमा का रोटेशन पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के साथ लॉक हो गया हैं. इसलिए जब वह अपनी धुरी पर एक चक्कर पूरा कर रहा होता हैं तो उसका प्रकाशित भाग, जो की पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण से उसकी कक्षा में लॉक हो चूका हैं, जिसे हम हमेशा देखते हैं, उसके पृथ्वी के आसपास एक चक्कर पूरा करने तक हमे वही प्रकाशित भाग दीखता हैं. तो यह किसी तरह की फिक्सिंग या संयोग नहीं हैं.
ज्यादातर लोग जब चाँद आधा दिख रहा होता हैं तब उसकी आधी अन्धेरी दिखनेवाली बाजु को गलती से डार्क साइड समाज बैठते हैं. लेकिन वह भी चाँद का वोही भाग होता हैं जो आपको पूर्णिमा के दिन पूरा दीखता हैं. डार्क साइड आप कभी भी नहीं देख सकते हैं. चाँद पर जैसे पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण की असर होती हैं वैसे ही पृथ्वी पर भी चंद के गुरुत्वाकर्षण की असर होती हैं. चाँद का गुरुत्वाकर्षण पृथ्वी पर समुद्र में ज्वार लाता हैं. बिलकुल इसी तरह की घटना सूरज और बुध के बिच देखने को मिलती हैं.
लेकिन अगर आपको चाँद की डार्क साइड को देखना हैं तो वो निचे तस्वीर में दिखाई गयी हैं..
(Visited 89 times, 1 visits today)

1 Comment

  1. Pingback: What is Gravity In Hindi गुरुत्वाकर्षण क्या हैं? - Everything in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

'
Shares